Homeमध्यप्रदेशदोस्त को गोली मार कर की हत्या, लाश को बैग में पैक...

दोस्त को गोली मार कर की हत्या, लाश को बैग में पैक कर फेंका, जानें क्या है पूरा मामला

दोस्त को गोली मार कर की हत्या, लाश को बैग में पैक कर फेंका, जानें क्या है पूरा मामला। दिल्ली पुलिस ने 32 साल के युवक की हत्या के आरोप में उसके दोस्त को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार, आरोपी ने अपने दोस्त की हत्या कर दी और उसके शव को द्वारका इलाके के नाले में फेंक दिया था। दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि मृतक की पहचान योगेश कुमार के रूप में हुई है। जिसे उसके दोस्त शशांक सिंह ने गोली मार दी थी।

यह भी पढ़े :मारुती की 5 सीटर कार है सबकी चहेती, माइलेज में है सबकी बाप, जाने कीमत और डिटेल्स

आरोपी शशांक एबीए का छात्र है। कहा जा रहा है कि शशांक ने योगेश के सामने शारीरिक संबंध बनाने का प्रस्ताव रखा था। योगेश के इनकार के बाद शशांक ने उसकी हत्या की।

योगेश के पिता ने दर्ज कराई थी शिकायत

gang rape 1610002056.jpeg?w=414&dpr=1

मामले में पुलिस की जांच 10 जुलाई को अंबेडकर नगर पुलिस स्टेशन में उसके पिता की ओर से दर्ज कराई गई योगेश की गुमशुदगी की शिकायत के साथ शुरू हुई। शिकायत में, योगेश के पिता ने आरोप लगाया कि वह नौकरी के लिए इंटरव्यू देने गया था, लेकिन घर नहीं लौटा। योगेश के पिता ने यह भी कहा कि उन्हें अपने बेटे योगेश को रिहा करने के लिए एक अज्ञात नंबर से 20 लाख रुपये की फिरौती का फोन आया था। शिकायत का संज्ञान लेते हुए पुलिस द्वारा योगेश की बरामदगी के लिए जांच शुरू की गई।

आया था फिरौती के लिए फोन

01 09 2022 firingnews 23032399

17 जुलाई को पीड़ित के पिता को फिरौती के लिए एक कॉल आई जिसमें योगेश की रिहाई के लिए 15 लाख रुपये की मांग की गई। कॉल के बाद दिल्ली पुलिस ने पालिका बाजार, कनॉट प्लेस और गुरुग्राम के जीआईपी मॉल पर छापेमारी की। लेकिन पुलिस टीम को पता चला कि जांच को गुमराह करने के लिए फिरौती के लिए कॉल की गई थी।

यह भी पढ़े :अंजू से निकाह के बाद नसरुल्लाह का परिवार पछता रहा, नर्क से बत्तर हुई ज़िन्दगी

दिल्ली पुलिस ने ऐसे किया हत्या का खुलासा

th?id=OIP

दिल्ली पुलिस ने तकनीकी साक्ष्यों की जांच के बाद पता लगाया कि योगेश आखिरी बार अपने दोस्त शशांक सिंह के साथ था। जिसके बाद उसे हिरासत में ले लिया गया। पूछताछ के दौरान शशांक सिंह ने खुलासा किया कि उसकी योगेश से मुलाकात दिल्ली में एक पार्टी में हुई थी। इसके बाद उनकी एक-दूसरे से मुलाकातें होने लगीं। मृतक योगेश के पास कोई नौकरी नहीं थी और वह जॉब के लिए शशांक से मिलता था।

9 जुलाई को शशांक ने नौकरी के लिए इंटरव्यू के लिए योगेश को सीवी के साथ मूलचंद में बुलाया। इसके बाद दोनों दिल्ली के द्वारका इलाके में गए जहां उन्होंने शराब पी। एकांत जगह पाकर शशांक ने अपनी कार रोकी, पिस्तौल निकाली और योगेश की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद उसने उसके शव को एक सूटकेस में पैक किया और द्वारका के पास एक मुख्य नाले में फेंक दिया। उसने अपनी कार भी साफ की और अपनी पिस्तौल सहित खून से सनी कार की चादरें और अन्य सामान यमुना नदी में फेंक दिया।

Note: सीहोर टॉक्स इस खबर की पुष्टि नहीं करता है।

RELATED ARTICLES

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments